अनुसरण

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

देवताओं के

उपदेश माने जाते हैं

देवता हमारे द्वारा

पूजे जाते हैं

देवताओं का

अनुकरण क्यों

उनके जैसा दिखना क्यों

भगवान कितने रूपों में

अवतार लेते हैं

सभी देवता अलग

तरह के होते हैं

शिव ने विष पी लिया था

वे सृष्टि को बचाना चाहते थे

लेकिन यह मनुष्य के

हित में तो नहीं

कि मनुष्य शिव का

अनुसरण करे

मनुष्य को तो बस

कर्तव्य पथ पर चलना है

देवताओं ने क्या कहा

बस यह सुनना है

किसी का यदि

नकली आवरण ओढ़ लेंगे

निश्चित है एक दिन

आवरण हटता है

और सच का पता चल जाता है

सच का पता चलता है

अपमान होता है

देव या कोई भी महान व्यक्ति है

तो उसके जैसा दिखना क्यों

उसे अच्छी तरह से

सुनिए समझिए

उसके बताए गए

रास्ते पर चलिए

रितु शर्मा

दिल्ली 






Popular posts
मुझ पर दोस्तों का प्यार, यूँ ही उधार रहने दो |
Image
चिट्टियां कैसे लिखी जाती थी
Image
राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में व प्रभारी जिला जज/ अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में आजादी अमृत महोत्सव हुआ कार्यक्रम
Image
70 साल की उम्र में UP विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव राजभर ने ली अंतिम सांस, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव ने जताया शोक
Image
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा, रोज़गार और कल्याणकारी योज़नाओं का लाभ उठाने ई-श्रमिक पोर्टल पर पंजीकरण मील का पत्थर साबित होगा
Image