घूमने के लिए बेहतरीन जगह है कर्नाटक

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

कर्नाटक भारत के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है। उत्तर से लेकर दक्षिण तक इस राज्य में घूमने और आकर्षक नजारों का लुत्फ उठाने के लिए बहुत कुछ है। यह राज्य समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से भरा हुआ है। इस राज्य का इतिहास 2000 साल से भी पुराना है। यहां नंद से लेकर मौर्य और सातवाहन नामक राजाओं का शासन रहा है। श्रवणबेलगोला में गोमतेश्वर की विशाल प्रतिमा तो विश्व प्रसिद्ध है, जिसका निर्माण गंग वंश के मंत्री चामुंडराया ने करवाया था। इसलिए कर्नाटक के बारे में यह कहा जा सकता है कि लंबे इतिहास और प्राकृतिक सौंदर्य के कारण यह राज्य पर्यटन आकर्षणों से परिपूर्ण है। यही वजह है कि यह राज्य हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। अगर आप कभी कर्नाटक की यात्रा का मन बना रहे हैं, तो चलिए हम आपको बताते हैं यहां घूमने वाली कुछ प्रमुख जगहों के बारे में, जहां आपको जरूर जाना चाहिए। 

कूर्ग 

यह कर्नाटक के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह जगह स्वर्ग के सामान है। यहां की खूबसूरत हरी-भरी पहाड़ियां और उसके साथ ही यहां बहने वाली नदियों को देखकर दिल को सुकून मिलता है। कॉफी के लिए मशहूर कूर्ग को 'भारत का स्कॉटलैंड' भी कहा जाता है। एबी फॉल्स, इरुप्पू फॉल्स और होननामना केर झील आदि कूर्ग में देखने लायक जगहें हैं। 

गोकर्ण 

यह कर्नाटक का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है, जो समुद्र तट प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है। अगर आप छुट्टी का पूरा मजा लेना चाहते हैं और बीच पर मस्ती करना चाहते हैं तो यह जगह आपके लिए सबसे बेस्ट है। सबसे खास बात कि यहां भीड़ भी कम ही होती है। 

हम्पी 

महान तुंगभद्रा नदी के तट पर स्थित हम्पी एक प्राचीन गांव है, जो अपने खंडहरों के लिए प्रसिद्ध है। इन खंडहरों की वजह से ही हम्पी को यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल का दर्जा भी मिला है। पहाड़ियों और घाटियों की गहराई में स्थित हम्पी को कर्नाटक के प्रमुख पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। 

नंदी हिल्स

कर्नाटक के चिक्काबल्लापुर जिले में स्थित नंदी हिल्स की गिनती भारत की सबसे खूबसूरत जगहों में की जाती है। यहां की हरियाली और सुंदर दृश्य मन को मोह लेते हैं। यहां बहुत सारे प्राचीन और आकर्षक मंदिर स्थित हैं। इसके अलावा पहाड़ों पर स्थित नंदी किला भी यहां देखने लायक जगह है। यह एक प्राचीन किला है, जिसे टीपू सुलतान ने बनवाया था।