भागवत कथा से जन्म-जन्मान्तर के विकार नष्ट होते है: अनिल कोदंड

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

सहारनपुर। श्रीमद् भागवत कथा श्रवण से जन्म जन्मांतर के विकार नष्ट हो जाते है। इसके श्रवण से राजा परीक्षित को मोक्ष की प्राप्ति हुई थी जो प्राणी श्रद्धा पूर्वक कथा सुनते हैं उसे मुक्ति प्राप्त होती है उसका जीवन आनंदमय  मंगलमय हो जाता है भागवत कथा से व्यक्ति के मन का शुद्धिकरण हो जाता है यह उदगार बेरीबाग के बांके बिहारी मंदिर में चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा में रविवार को विख्यात कथावाचक पंडित अनिल कोदंड ने कहे उन्होंने बहुत से प्रसंग सुनाकर सभी को भावविभोर कर दिया पंडित उधव शर्मा ने भगवान राम की लीला का वर्णन भी सुनाया इस पावन अवसर पर रामलीला उसे जुड़े कलाकार व पदाधिकारियों को पगड़ी पहनाकर सम्मानित भी किया गया गांधी पार्क रामलीला के रावण सुरेश निझावन श्री राकेश वत्स रमेश चंद्र छबीला जगदीश भंडारी निर्देशक श्री भारद्वाज हनुमान जी वह रामायण को जानो कार्यक्रम के संचालक रवि बक्शी को सम्मानित किया गया।