॥ वतन के गद्दार होश में आओ ॥

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 


मातृभूमि को तुम अपना वतन समझो

पाक की शह पर ना तुम गद्दार बनो

वतन की मिट्टी पर तुम पला बढ़ा है

अपने वतन का तुम सम्मान   करो


आजादी के खातिर शहीद हुए हैं

ना जाने कितने भारत माँ के लाल

याद करोगे जब उनकी तुम शहादत

अश्क से भीग जायेगें तेरे भी गाल


जेहादी का हिस्सा बनकर तुम

देश को मत करना तुम बरबाद

देश रहेगा तब तुम भी बचोगे

मातृभूमि की मिट्टी से करना इन्साफ


गुलामी की बहुत दर्द सह चुके हैं

अब ना बँधने देंगें माँ भारती को आज

जो भी आयेगा गद्दारी करने देश में

उनको भेज देगें जहन्नुम के  द्वार


सँभल जाओ रे वतन के गद्दारों

अब इस मुल्क में तेरी भी खैर नहीं

बंद कर अब बारूद की दुकानदारी

तुम भारतीय हो तुम गैर नहीं


बसंती रंग में रंग लो अपनी चोला

बन्देमातरम् का जयघोष  करो

मातृभुमि तुम्हें माफी भी दे देगी

अपने वतन की सुरक्षा पर गौर करो ॥


उदय किशोर साह

मो० पो० जयपुर जिला बाँका बिहार