देहरादून में उत्तराखंड सरकार की घसियारी कल्याण योजना का अमित शाह ने किया शुभारंभ

                                     
युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

देहरादून : केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री व भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को उत्तराखंड में पार्टी के चुनाव अभियान का आगाज करने पहुंचे। यहां शाह ने राज्य सरकार की घसियारी कल्याण योजना का भी शुभारंभ किया है। अमित शाह शनिवार सुबह जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे। एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने उनका स्वागत किया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 नवंबर को केदारनाथ धाम जाएंगे। वह वहां आदि शंकराचार्य की मूर्ति का उद्घाटन करेंगे।

कहा कि हम साफ नीयत से काम कर रहे हैं। हमने 85 हजार करोड़ के काम गिना दिए हैं। जिन पर कार्य चल रहा है। अगले पांच साल में ये कार्य पूरे हो जाएंगे। लेकिन कांग्रेस केवल प्रदर्शन करती है या फिर दिल्ली में राहुल गांधी की शरण में जाती है। शाह ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को चुनौती दी कि कांग्रेस ने अपनी सरकार के समय के घोषणा पत्र पर कितना काम किया है, इस पर किसी भी चौराहे पर चर्चा हो जाए। शाह ने उन्हें खुली बहस की चुनौती दी। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में किए गए लगभग 85 प्रतिशत वादों को पूरा किया है।

कहा कि संकट में कांग्रेस पार्टी कहां होती है। राज्य में आई बाढ़ और कोरोना संक्रमण के दौरान पार्टी नहीं दिखी। कांग्रेस चुनाव में ही दिखती है। पार्टी के नेता नए कपड़े सिलवा रहे हैं।

शाह ने कहा कि 2017 के चुनाव के दौरान की गई घोषणाएं लगभग पूरी हो चुकी हैं। कांग्रेस के कार्यकाल में शराब घोटाला हुआ था। कांग्रेस वादाखिलाफी करने वाली पार्टी है। कांग्रेस पार्टी विलासिता भोगने वाली पार्टी है। इनका लोकतंत्र से कोई संबंध नहीं है। कांग्रेस केवल तुष्टिकरण करती है। कांग्रेस ने किसानों की अनदेखी की।

कहा कि किसानों को योजनाओं का लाभ मिल रहा है। कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है।

कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तराखंड को संवारने में जुटे हैं। उत्तराखंड में फिर भाजपा की सरकार बनेगी। मुख्यमंत्री धामी भी काफी मेहनत कर रहे हैं। उत्तराखंड विकास की राह पर चल रहा है। उत्तराखंड ने पिछले चार वर्षों में समग्र विकास देखा है। भारतीय जनता पार्टी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

अमित शाह ने कहा कि देवभूमि में पहाड़ की चोटियों पर विपरित परिस्थितियों में बहनों और माताओं को जानवरों के लिए चारा लाना होता है। घसियारी योजना से इन बहनों और माताओं की समस्या हल हो जाएगी।

अमित शाह ने देवभूमि की जनता के अभिवादन के साथ अपना संबोधन शुरू किया। कहा कि मैं अस्वस्थ होने के बाद भी देवभूमि की जनता को नमन करने आया हूं। कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी ने उत्तराखंड को बनाया है।

अमित शाह ने उत्तराखंड सरकार की घसियारी कल्याण योजना का शुभारंभ किया।

गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य की 670 बहुद्देश्यीय सहकारी समितियों के कंप्यूटराइजेशन का उद्घाटन किया। 

उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जैसे ही हमें पता चला कि राज्य में प्राकृतिक आपदा आ सकती है, हमने अस्थायी रूप से चार धाम यात्रा रोक दी। सभी तीर्थयात्रियों से राज्य में अपने-अपने स्थानों पर कुछ दिनों के लिए रुकने का अनुरोध किया गया था। तीर्थयात्रियों में कोई हताहत नहीं हुआ।

कार्यक्रम में उत्तराखंड के सभी मंत्री और पूर्व मूख्यमंत्री मौजूद हैं।

केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री व भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह देहरादून में सभा स्थल पर पहुंचे और दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

अमित शाह देहरादून के बन्नू स्कूल मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे।

शाह में कार्यक्रम में पहुंचने से पहले ही पांडाल में काफी संख्या में लोग पहुंच गए। 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज शनिवार को हरिद्वार भी पहुंचेंगे। वह देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ ही हरिहर आश्रम में संतों से मुलाकात करेंगे। शाम चार बजे से होने वाले कार्यक्रम में गृहमंत्री डेढ़ घंटे तक रहेंगे। इसके बाद वह हरिहर आश्रम कनखल पहुंचेंगे और यहां संतों से मुलाकात करेंगे। गृहमंत्री यहां पर एक घंटे तक संतों से मुलाकात करने के बाद सड़क मार्ग से जौलीग्रांट एयरपोर्ट के लिए निकल जाएंगे। 

शुक्रवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनसभा स्थल का औचक निरीक्षण किया और जिलाधिकारी से व्यवस्थाओं को लेकर जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी व्यवस्थाएं कोविड प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए की जाएं।

जनसभा संबोधित करने के बाद अमित शाह आईआरटीडी ऑडिटोरियम में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों की एक बैठक लेंगे। बैठक में वह चुनावी तैयारी की नब्ज टटोलेंगे। साथ ही विधानसभा चुनाव में जुटने का आह्वान करेंगे। इस दौरान वह पार्टी पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश भी देंगे। भाजपा के भीतर दलबदल की चर्चाओं के बीच शाह के इस दौरे के कई सियासी मायने तलाशे जा रहे हैं।

प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक करने के बाद शाह प्रदेश पार्टी कार्यालय में पार्टी की कोर कमेटी से रूबरू होंगे। इस बैठक में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, पार्टी के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम समेत पार्टी कोर कमेटी के सदस्य शामिल होंगे। इस बैठक में शाह पार्टी की चुनावी दिशा को स्पष्ट करेंगे। साथ ही चुनाव में भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने के लिए टिप्स भी देंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का यह दौरा भाजपा के चुनाव अभियान को मजबूती देगा। उनके मार्ग दर्शन से पार्टी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं में जोश और उत्साह का संचार होगा।