एएमयू में छात्रों के लिए अंतर्राष्ट्रीय कार्पोरेट मीट का आयोजन

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट आफिस (जनेरल) के तत्वाधान में एक आनलाइन इंटरनेशनल कार्पोरेट मीट का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कुलपति, प्रोफेसर तारिक मंसूर ने उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि नौकरी के बजाय उद्यमिता, पढ़ाई के दौरान हासिल किए गए कौशल को साकार करने का एक बेहतर विकल्प है क्योंकि यह व्यक्ति को नौकरी चाहने वाले के बजाय नौकरी प्रदाता बनने में सक्षम बनाता है। उन्होंने कहा कि व्यावसायिक जगत और शिक्षाविदों के बीच पारस्परिक रूप से लाभकारी संबंध बनाने के लिए कार्पोरेट बैठकें महत्वपूर्ण हैं और एएमयू के छात्रों को एएमयू में अपनी पढ़ाई शुरू करने के पहले दिन से ही नौकरी बाजार के लिए खुद को तैयार करना चाहिए।

प्रोफेसर मंसूर ने उनसे कारपोरेट जगत के लिए खुद को सक्षम बनाने के लिए कॉर्पोरेट जगत के सिद्धांत और शिष्टाचार सीखने और पर्याप्त कौशल हासिल करने पर जोर दिया। उन्होंने एएमयू के पूर्व छात्रों के साथ संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के महत्व पर जोर देते हुए बताया कि वे कार्पोरेट जगत के साथ संबंध बनाने में कैसे महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी ने शिक्षा और नौकरियों सहित विभिन्न मानव गतिविधियों के लिए चुनौतियां कि हैं परन्तु इस के साथ ही इन क्षेत्रों में नए रास्ते भी पैदा किए हैं और इस मीट में भाग लेने वाले वरिष्ठ उद्योग विशेषज्ञ और संसाधन व्यक्ति सम्बंधित मुद्दों, चुनौतियों और अवसरों को उजागर करेंगे। 

उन्होंने कहा कि एएमयू ने छात्रों को नवीनतम तकनीकी शिक्षा से लैस करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में बी.टेक और एम.टेक. तथा  डेटा साइंस आदि में एम एस सी जैसे कई रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम शुरू किए हैं। मुख्य अतिथि, श्री इमाद मलिक (सीईओ, शराफ एक्सचेंज, दुबई) ने नौकरी बाजार में उत्पन्न होने वाले रुझानों और छात्रों को रोजगार योग्य बनाने के लिए आवश्यक कौशल पर प्रकाश डाला। उन्होंने अपनी सफलता की कहानी में एएमयू की भूमिका का उल्लेख करते हुए छात्रों से अच्छी प्रेरक किताबें पढ़ने और उपलब्धि हासिल करने वालों की सफलता की कहानियों से सीख लेने का आग्रह किया। 

उन्होंने एएमयू द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का सर्वोत्तम उपयोग करने की भी उन्हें सलाह दी। उन्होंने आश्वासन दिया कि उनका संगठन एएमयू के छात्रों को लाइव प्रोजेक्ट पर इंटर्नशिप, नौकरी और प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एएमयू के साथ करार की संभावनाओं का पता लगाएगा। मानद अतिथि, रूपा हसन (वरिष्ठ एचआर, दुबई इलेक्ट्रिसिटी एंड वाटर अथॉरिटी - डीईडब्ल्यूए) ने जीवन कौशल के महत्व और खुश रहने के साथ ही कार्य-जीवन के बीच उचित संतुलन बनाए रखने के लाभों पर बल दिया। उन्होंने छात्रों से एक स्वस्थ भावनात्मक जीवन जीते हुए रोजगार बाजार की चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना करने के लिए अपने ज्ञान और कौशल को उन्नत करने का आग्रह किया।

इससे पूर्व, प्रोफेसर इमरान सलीम (कार्यक्रम संयोजक) ने मेहमानों का स्वागत करते हुए नियमित रूप से कार्पोरेट बैठकों के आयोजन और इन में भाग लेने के महत्व को रेखांकित किया। अमरा मरियम (प्रशिक्षण और प्लेसमेंट समन्वयक, यूनिवर्सिटी विमेंस पालिटेक्निक) ने कार्पोरेट बैठक के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला और नकी अब्बास, एएमयू के पूर्व छात्र और इनेबल करियस के संस्थापक के साथ तकनीकी सत्र का संचालन किया। सुश्री ललिमा गुप्ता और सुश्री तृष्णा अग्रवाल, छात्र स्वयंसेवक, टीपीओ (सामान्य) ने अतिथियों और पैनलिस्टों का परिचय दिया। नकी अब्बास, साद हमीद (टीपीओ-जनरल) औरअमराह मरियम ने शिक्षा और रोजगार संगत योग्यताः क्या उत्तर कोविड समय में यह एक नया सामान्य है। विषय पर एक पैनल चर्चा का संचालन किया। 

अभिषेक तलवार (सीईओ, हेक्साव्यू टेक्नोलाजीज, नोएडा), जैनब जाफरी (डेलोइट, मुंबई), आलोक एन गुप्ता (एमडी, टैलेंट रिक्रूट, बेंगलुरु), धीरज मोदी (ग्लोबल एचआर हेड, एनएलबी सर्विसेज, गुरुग्राम) और फैनान ख्वाजा (वीपी, कैम्बे कंसल्टिंग) ने चर्चा में भाग लिया और अपने विचार साझा किए। साद हमीद ने समापन भाषण प्रस्तुत किया, जबकि डा० जहांगीर आलम, सहायक टीपीओ ने कार्यक्रम का संचालन किया और डा० मंसूर आलम सिद्दीकी, टीपीओ विमेंस कालेज ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। डा० मुजम्मिल मुश्ताक, सहायक टीपीओ ने कारपोरेट मीट के सफल आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। बैठक में 800 से अधिक छात्र, शिक्षक, विभागीय टीपीओ और उद्योग विशेषज्ञ शामिल हुए।

Popular posts
मुझ पर दोस्तों का प्यार, यूँ ही उधार रहने दो |
Image
चिट्टियां कैसे लिखी जाती थी
Image
राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में व प्रभारी जिला जज/ अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में आजादी अमृत महोत्सव हुआ कार्यक्रम
Image
70 साल की उम्र में UP विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव राजभर ने ली अंतिम सांस, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव ने जताया शोक
Image
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा, रोज़गार और कल्याणकारी योज़नाओं का लाभ उठाने ई-श्रमिक पोर्टल पर पंजीकरण मील का पत्थर साबित होगा
Image