पाकिस्तान का दौरा रद्द करने के लिए ईसीबी पर भड़के माइकल होल्डिंग

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

वेस्टइंडीज के महान तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने पाकिस्तान का दौरा रद्द करने के लिए इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड का पाकिस्तान दौरा रद्द करने से 'पश्चिमी अहंकार' की बू आती है और यह देश कभी 'समृद्ध और शक्तिशाली' भारत के साथ ऐसा नहीं करता। इंग्लैंड की पुरुष और महिला टीम को इस महीने पाकिस्तान दौरे पर आना था लेकिन इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने खिलाड़ियों को मानसिक और शारीरिक तौर पर स्वस्थ रखने तथा सुरक्षा कारणों से दोनों सीरीज रद्द कर दी।

बीबीसी स्पोर्ट के अनुसार होल्डिंग ने क्रिकेट राइटर्स क्लब पीटर स्मिथ अवार्ड हासिल करने के बाद कहा, 'ईसीबी का बयान स्थिति स्पष्ट नहीं करता। कोई भी आगे आकर किसी चीज का सामना नहीं करना चाहता है क्योंकि वे जानते हैं कि उन्होंने जो किया वह गलत था। इसलिए उन्होंने बयान जारी कर दिया और वे बयान की आड़ में छिप गये। इससे मुझे उनके उस बकवास की याद आती है जो उन्होंने ब्लैक लाइव्स मैटर (अश्वेतों की जिंदगी भी मायने रखती है) अभियान के मामले में किया था।'

होल्डिंग ने कहा, 'मैं उसकी तह में नहीं जाना चाहता हूं क्योंकि मैं इस बारे में पहले ही काफी कुछ कह चुका हूं। लेकिन मुझे इससे उसी पश्चिमी अहंकार के संकेत मिलते हैं। मैं आपके साथ वैसा ही व्यवहार करूंगा जैसा मुझे आपके साथ करना अच्छा लगता है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या सोचते हैं, मैं वही करूंगा जो मैं चाहता हूं।' न्यूजीलैंड ने सुरक्षा कारणों से पहला वनडे शुरू होने से कुछ देर पहले पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया था जिसके तीन दिन बाद ईसीबी ने फैसला किया। इंग्लैंड की पुरुष टीम ने 2005 के बाद पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है जबकि उसकी महिला टीम का यह पहला पाकिस्तान दौरा होता।

होल्डिंग ने पाकिस्तान के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि यदि यह भारत होता तो इंग्लैंड की दौरा रद्द करने की हिम्म्त नहीं होती। उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान ने टीका उपलब्ध होने से पहले छह या सात सप्ताह के लिए इंग्लैंड का दौरा किया था। वे वहां रुके रहे। उन्होंने वहां क्रिकेट खेली। उन्होंने उसका सम्मान किया जो इंग्लैंड उनसे चाहता था। 'उन्हें तो पाकिस्तान में चार दिन के लिए जाना था? मुझे पूरा विश्वास है कि उन्होंने भारत के साथ ऐसा नहीं किया होता क्योंकि भारत समृद्ध और शक्तिशाली है।'