चिंता : पराली के धुएं प्रदूषित हुई दिल्ली-एनसीआर की हवा

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

दिल्ली : दिल्ली-एनसीआर की हवा को पराली के धुएं ने एक बार फिर बिगाड़ना शुरू कर दिया है। बीते 24 घंटे में राजधानी की हवा का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 93 अंक उछलकर 232 दर्ज किया गया है। जोकि खराब श्रेणी में माना जाता है। इससे एक दिन पहले यह 139 दर्ज किया गया था। सफर का अनुमान है कि अगले 24 घंटे में दिल्ली-एनसीआर की हवा और बिगड़ेगी और सूचकांक बहुत खराब श्रेणी में दर्ज किया जाएगा। 

सफर के मुताबिक, बीते 24 घंटे में पड़ोसी राज्यों में 656 पराली जलने मामले दर्ज किए गए। इससे उत्पन्न होने वाले पीएम 2.5 कण की प्रदूषण में 16 फीसदी हिस्सेदारी दर्ज की गई। हवा की दिशा पश्चिम की ओर होने की वजह से पराली का धुआं दिल्ली-एनसीआर में पहुंच रहा है। सफर का अनुमान है कि आगामी 29 अक्तूबर तक हवा बहुत खराब श्रेणी के उच्चतम स्तर में दर्ज की जा सकती है। पराली का धुआं बढ़ने के कारण इस समय पीएम 2.5 का स्तर खराब श्रेणी में बना हुआ है जबकि पीएम 10 का स्तर औसत श्रेणी में दर्ज किया जा रहा है। 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड(सीपीसीबी) के मुताबिक, बुधवार को फरीदाबाद का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 249, गाजियाबाद का 232, गुरुग्राम का 168 व नोएडा का 228 रहा। इससे एक दिन पहले एनसीआर के अधिकांश शहरों की हवा औसत श्रेणी में दर्ज की गई थी। 

पहाड़ों पर बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी दिखना शुरू हो गया है। दिल्ली-एनसीआर में मौसम का मिजाज बदलने के कारण सुबह-शाम के समय हल्की सर्दी का अहसास बढ़ रहा है। अगले तीन दिनों में न्यूनतम तापमान में कमी आने के साथ सुबह के समय हल्का कोहरा छाया रह सकता है। 

मौसम विभाग के मुताबिक, बुधवार को अधिकतम तापमान सामान्य से तीन कम 28.2 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान सामान्य से दो कम 14.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बीते 24 घंटे में हवा मेें नमी का स्तर 41 से 94 फीसदी रहा। दिनभर धूप खिली रही, लेकिन गर्मी का अहसास नहीं हुआ। वहीं, शाम के समय हल्की ठिठुरन महसूस की गई।