हैण्डवाश डे पर आयोजित हुआ स्वच्छता व्यवहार परिवर्तन कार्यक्रम

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

बहराइच । विश्व हाथ धुलाई दिवस के उपलक्ष्य में स्वच्छता व्यवहार परिवर्तन कार्यक्रम अन्तर्गत मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय बहराइच के प्रांगण में आगा खान फाउण्डेशन द्वारा हाथ धुलाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के माध्यम से संचारी रोग एवं कोरोना महामारी से बचाव हेतु हाथ धोने की आदत को जन-जन तक पहुंचाने पर बल देते हुए आशा कार्यकत्रियों को सुमन एण्ड के के माध्यम से  साबुन से हाथ धुलवाया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजीत चंद्रा ने साबुन से हाथ धोकर हैण्डवाश डे का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए डॉ. चन्द्रा ने कहा कि प्रत्येक वर्ष 15 अक्टूबर को पूरी दुनिया में विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया जाता है ताकि स्वच्छता व्यवहार परिवर्तन के तहत लोगों में साफ-सफाई के प्रति जागरूकता आये।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के एस.ओ.ओ. डॉ. विपिन निखारे ने कहा कि मात्र साबुन से हाथ धोने से शिशुओं में होने वाली 60 प्रतिशत बीमारियों में कमी लायी जा सकती है। डॉ. निखारे ने सुझाव दिया कि हाथ धोयें तो उसे कपडे या रुमाल में न पोछकर, हवा में ही सुखाना चाहिए। ए.सी.एम.ओ. डॉ. जयन्त कुमार ने आशा कार्यकत्रियों का आहवान किया कि हाथ धोने की आदत को लोगों तक पहुॅचायें। उन्होंने बताया कि हमें कम से कम 40 से 60 सेकेण्ड तक हाथ धोना चाहिए, यही सही तरीका है। डीएचईआईओ बृजेश सिंह ने कोरोना महामारी से लड़ाई में आशाओं की भूमिका की प्रशन्सा करते हुए हाथ धोने की आदत को जन-जन तक पहुॅचाये जाने के लिए प्रेरित किया।

इस अवसर पर अधीक्षक डॉ. कुॅवर रितेश, यूनिसेफ से डीएमसी संदीप सक्सेना व तहरीम सिद्दीकी, आगा खान फाउंडेशन से फसीह अहमद, अता इमाम, मोहित कुमार, राम प्रकाश अवस्थी, मीना बेगम, शहनाज मिर्जा सहित अन्य सम्बन्धित लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान कार्यक्षेत्र में सुरक्षा के लिए आशाओं को सैनीटाईजर का वितरण किया गया।