जानिए चकला-बेलन से जुड़े वास्तु नियम...

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

भारतीय रसोई में रोटी बनाने के लिए चकला-बेलन इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में ये हर किचन में आपको आसानी से मिल जाएगा। मगर क्या आप जानते हैं कि रोटी बनाने वाला यह चकला हमारी किस्मत पर भी असर डालता है। वास्तु अनुसार, हमारे जीवन में चकला-बेलन भी बेहद अहमियत रखता है। ऐसे में इसे खरीदने से लेकर संभालने तक कई बातों का ध्यान रखने की जरूरत होती है। तभी जीवन में सुख-समद्ध की बरकत बनी रहेगी। चलिए जानते हैं चकला-बेलन से जुड़े कुछ खास वास्तु नियम...

इस दिन ना खरीदें चकला-बेलन

आमतौर पर हम कभी भी बाजार जाकर शॉपिंग कर लेते हैं। मगर वास्तु अनुसार, चकला-बेलन खास मुहूर्त व दिन में ही खरीदना चाहिए। इसे बुधवार के दिन खरीदना शुभ माना जाता है। इसके विपरित मंगलवार और शनिवार के दिन चकला-बेलन खरीदने से बचना चाहिए। इससे घर में परेशानियां आ सकती है।  है.

ऐसा चकला-बेलन खरीदने से बचें

बाजार में हर चीज की वैरायटी मिलती है। इसलिए अक्सर महिलाएं चकला-बेलन भी अलग तरह का खरीदना पसंद करती है। मगर इसे खरीदते समय इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि इसपर रोटी दौरान आवाज नहीं आनी चाहिए। ऐसे चकला-बेलन को अशुभ माना जाता है। कहा जाता है कि आवाज वाले चकला-बेलन से घर में अशांति का माहौल बढ़ता है। इसके साथ धन हानि का भी कारण बनता है।

चकला-बेलन की रोजाना सफाई जरूरी

कई महिलाएं चकला-बेलन को रोजाना नहीं धोती है। मगर इससे घर में वास्तुदोष पैदा होता है। ऐसे में घर-परिवार को कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ सकती है। इसके अलावा बिना धोएं चकला-बेलन इस्तेमाल करने से सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। इसलिए रोजाना रोटी बनाने से पहले इसे अच्छे से धो लें।

चकला-बेलन संभालने में ना करें गलती

अगर आप भी चकले को उल्टा करके रखती है तो अपनी इस गलती को सुधार लें। इससे वास्तुदोष उत्पन्न होता है।

इस जगह पर भी चकला-बेलन रखने से बचें

चकला-बेलन आटे या चावल के डिब्बे पर भी ना रखें। वास्तु अनुसार, इसे अशुभ माना जाता है।