फौजी की मौत पर उमड़ा जन सैलाव

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

गम्भीरपुर आजमगढ़। गंभीरपुर थाना क्षेत्र के रानीपुर रजमो बिंद्रा बाजार निवासी गौरख सोनकर के जीजा फौजी घूरन सोनकर पुत्र लाल मुनी सोनकर निवासी ग्राम नमना कला थाना अंबिकापुर जिला सरगुजा छत्तीसगढ़ निवासी की बीमारी के कारण दवा इलाज के दौरान ससुराल में बिंद्रा बाजार आजमगढ़ में 28 सितंबर की रात मृत्यु हो गई पुत्र आयुष ने अपने पिता का पिंड दान राम जानकी मंदिर पोखरे पर विधि विधान के द्वारा कराया तिरंगे में लिपटी फौजी की  पार्थिव शरीर को बेटा आयुष पुत्री रीना और मीना पत्नी दुर्गावती सोनकर ने सलामी दिया ।प्राप्त जानकारी के अनुसार बिंद्रा बाजार निवासी राम प्रसाद सोनकर के दामाद सी आई एस एफ मैं तैनात फौजी घूरन सोनकर को खतरनाक बीमारी लग गई जिनका इलाज आजमगढ़  वाराणसी जनपद में चल रहा था खतरनाक बीमारी से कही से आराम नहीं मिला। जिनका  28 सितंबर की रात लगभग 1:30 बजे मौत हो गई 29 सितंबर को बिंद्रा बाजार स्थित रामजानकी मंदिर पोखरे पर पुत्र आयुष द्वारा पिता का पिंडदान किया गया ।पिंडदान के उपरांत पत्नी दुर्गावती पुत्र  आयुष पुत्री रीना वह मीना ने पिता को सलामी दिया फौजी घूरन सोनकर का मोहम्मदपुर मगई नदी पर बने शिव घाट पर बने  शवदाह गृह पर अंतिम संस्कार किया गया मृतक के  पास दो पुत्री रीना 22 वर्ष मीना 20 वर्ष पुत्र आयुश 17 वर्ष पत्नी दुर्गावती सोनकर सहित पूरा परिवार छोड़ गए बहुजन समाज पार्टी के पूर्व सांसद डा० बलिराम, सेक्टर प्रभारी हरिश चंद गौतम, हरिराम भास्कर, राम जी सरोज,  राम अवतार राजेंद्र प्रसाद ने शोकाकुल परिवार के यहां शोक संवेदना व्यक्त किया।