देश व प्रदेश में मंहगाई, बेरोजगारी चरम पर है -खरपत्तू राजभर

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

आजमगढ़। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी जिला कौंसिल ने बुधवार को लगातार बढ़ रही मंहगाई, बेरोजगारी के विरोध मे कलेक्ट्रेट में मार्च निकालकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर नारेबाजी किया। इसके बाद मुख्यमंत्री को सम्बोधित सात सूत्रीय मांग पत्र जिला प्रशासन को सौंपकर मांगे पूरी करने की मांग किया।

भाजपा के जिला मंत्री खरपत्तू राजभर ने कहा कि आज देश व प्रदेश में मंहगाई, बेरोजगारी चरम पर है। सरकार मंहगाई रोकने में पूरी तरह से फेल हो गई है। यह सरकार पूंजीपतियों के हाथों की कठपुथली बनकर रह गई है। शिक्षित नौजवान बेरोजगार बनकर घूम रहा हैं। प्रदेश में आये दिन हत्या, लूट, बलात्कार की घटनाएं घट रही है। इस सरकार में महिलाएं पूरी तरह से असुरक्षित महसूस कर रही हैं।

किसान सभा के प्रदेश अध्यक्ष इम्तेयाज बेग ने कहाकि सरकार की किसान की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही है। तीनों किसान विरोधी कानूनों को सरकार को वापस ले लेना चाहिए। इसके अलावा न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी गारंटी देनी चाहिए। उन्होने कहाकि बढ़ती मंहगाई के कारण हर व्यक्ति परेशान है। गन्ना किसानों का बकाया का भुगतान अभी तक नहीं किया गया है। गन्ने का दाम पांच सौ रूपये प्रति कुंतल घोषित किया जाना चाहिए।

हामिद अली ने कहाकि हरियाणा में धरनारत् किसानों पर हुये लाठीचार्ज में जिन किसानों की मृत्यु हो गई उनको सरकार बीस लाख रूपये का मुआवजा दें और दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही करें। घाघरा नदी और छोटी सरयू में आये बाढ़ से देवारा क्षेत्र में किसानों का भारी नुकसान हुआ है। सरकार  इस मुआवजा दे और कटान रोकने की स्थायी व्यवस्था करें। उन्होने कहाकि कोविड काल में बेरोजगार हुए मजदूरों को ध्यान में रखते हुए मनरेगा का बजट बढ़ाया जाय। हर मजदूर को 100 दिन बजाय 200 दिन का रोजगार दिया जाय और उनकी दैनिक मजदूरी छह सौ रूपये की जाय।

प्रदर्शन में रामसूरत यादव, विनोद यादव, शहनवाज बेग, अशोक राय, जियालाल, रामलखन राजभर, दुर्बल्ली राम, बी राय, रामचन्द्र यादव, रामनेत यादव, रामाज्ञा यादव, मखड़ू, सुबेदार, उमेश चौधरी, पंचदेव, राठी, श्यामा प्रसाद, विश्राम चौहान, सुरेन्द्र यादव, गुलाब मौर्य आदि मौजूद रहे।