विश्व के सबसे बड़े आईलैंड ग्रीनलैंड में नहीं मिलेगी एक भी चींटी, जाने वजह

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

दुनियाभर में बहुत सी संख्या में जीव-जंतु है। वहीं चींटियों की तो करीब 12 हजार प्रजातियां मानी जाती है। ऐसे में ये काली, भूरी व लाल रंग की कहीं ना कहीं दिख ही जाती है। वहीं माना जाता है कि अफ्रीका में तो कुछ चींटियां इतनी खतरनाक है कि उसके काटने से कुछ ही मिनटों में व्यक्ति की मौत होने का खतरा रहता है। मगर क्या आप जानते हैं कि विश्वभर में एक ऐसा देश है जहां पर चींटियों का नामों-निशान भी नहीं है। चलिए आज जानते हैं इसके बारे में

ग्रीनलैंड में एक भी नहीं चींटी

बता दें, ग्रीनलैंड विश्व का सबसे बड़ा आईलैंड माना जाता है। यहां पर एक भी चींटी नहीं है। इसके पीछे का कारण यहां का मौसम और जलवायु माना जाता है। बता दें, हर जगह पर मौसम और जलवायु चींटियों के विकास व प्रजनन में भी मदद करता है। मगर ग्रीनलैंड बेहद ही ठंडा देश है। ऐसे में वहां पर चींटियां जिंदा नहीं रह सकती है। वैज्ञानिकों के मुताबिक यहां का ठंडा मौसम और जलवायु चींटियों पर नकारात्मक असर डालता है। इसलिए यहां पर एक भी चींटी नहीं है।

बेहद ही ठंडा स्थान ग्रीनलैंड

दुनियाभर में ग्रीनलैंड बेहद ठंडी जगह में आता है। उत्तरी ध्रुव पर स्थित होने के कारण इस आईलैंड का तापमान ज्यादातर ठंडा रहता है। ऐसा ही जलवायु धरती की दक्षिण ध्रुव पर स्थित अंटार्कटिका का भी है। इसलिए वहां भी चींटियों का नामों-निशान नहीं है।

बेहद ही खूबसूरत विश्व का सबसे बड़ा आईलैंड

बात हम ग्रीनलैंड की खूबसूरती की करें तो यह विश्व का सबसे बड़ा आईलैंड होने के साथ बेहद ही सुंदर है। इसका एक बहुत बड़ा हिस्सा पूरी तरह से बर्फ से ढका हुआ है। ऐसे में लोग खासतौर पर यहां पर घूमने का प्लान करते हैं। इसका संबंध राजनीतिक रूप से यूरोप माना जाता है लेकिन भौगोलिक दृष्टि से यह नॉर्थ अमेरिका का हिस्सा कहलाता है।