अपर आयुक्त की आडिट आपत्तियों के निस्तारण की समीक्षा, दो ईओ से स्पष्टीकरण तलब

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

आज़मगढ़ : मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त के निर्देश पर उनके कार्यालय सभागार में बुधवार को देर सायं आडिट आपत्तियों के निस्तारण एवं अनुपालन कार्यवाही की समीक्षा हेतु आयोजित अनुश्रवण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र ने जहॉं अपेक्षित निस्तारण अत्यन्त कम पाये जाने पर कतिपय अधिशासी अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त किया, वहीं आडिट आपत्तियों के निस्तारण की दिशा में कोई कार्यवाही नहीं किये जाने पर नगर पंचायत लालगंज एवं अजमतगढ़ के अधिशासी अधिकारियों को स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया। अपर आयुक्त श्री मिश्र ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि आडिट आपत्तियों का निस्तारण अत्यन्त महत्वपूर्ण है, इसलिए इसमें किसी भी प्रकार शिथिलता और उदासीन नहीं होनी चाहिए। उन्होंने मण्डल के अन्तर्गत समस्त स्थानीय निकायों के अधिशासी अधिकारियों से कहा कि निकायों द्वारा जिन करों में वृद्धि किया जाना है उसका प्रस्ताव तैयार कर बोर्ड की बैठक में पारित करायें, तदुपरान्त उसे लागू करें। उन्होंने तीनों जनपद की स्थानीय निकायों द्वारा विभिन्न करों की वसूली कम मिलने पर नाराजगी व्यक्त किया तथा समस्त ईओ को निर्देशित किया कि संसाधनों का समुचित उपयोग कर वसूली लक्ष्य के सापेक्ष कराना सुनिश्चित किया जाय। अपर आयुक्त श्री मिश्र ने कहा कि मण्डल के अन्तर्गत समस्त स्थानीय निकायों, सम्बन्धित डिग्री कालेजों, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा के स्तर पर आडिट आपत्तियों के निस्तारण एवं अनुपालन सम्बन्धी कार्यवाही की नियमित रूप से समीक्षा की जायेगी, इसलिए समस्त सम्बन्धित अधिकारी इसपर विशेष ध्यान दें। श्री मिश्र ने कहा कि वर्ष में जितनी आपत्तियॉं प्राप्त होती हैं उससे अधिक निस्तारण कराया जाय ताकि लम्बित आपत्तियॉं क्रमवार कम होती रहें। उन्होंने यह भी कहा कि निस्तारण के लिए सम्बन्धित अधिकारी लक्ष्य निर्धारित कर उसके अनुसार निस्तारण करायें।

अपर आयुक्त श्री मिश्र ने तीनों जनपदों की निकायवार समीक्षा में पाया कि नपा मऊ द्वारा निस्तारण अत्यन्त कम हुआ है। इसी प्रकार नगर पंचायत घोसी में 503 के सापेक्ष इस वर्ष 20 निस्तारण हुआ है, जो कम है। जनपद आज़मगढ़ की समीक्षा में नपा आज़मगढ़ में 129 आपत्तियॉं निस्तारित तथा 2111 आडिट आपत्तियॉं लम्बित, नपा मुबारकपुर में 125 निस्तारित एवं लगभग 1000 लम्बित पाई गयी। नगर पंचायत लालगंज एवं अजमतगढ़ में आडिट आपत्तियॉं बड़ी संख्या में लम्बित है परन्तु इस वर्ष कोई निस्तारण नहीं कराया गया है, जिसपर नाराजगी व्यक्त करते हुए अपर आयुक्त श्री मिश्र ने दोनों नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों से इस सम्बन्ध में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया। इसी प्रकार जनपद बलिया में नपा बलिया, नपा रसड़ा सहित नगर पंचायत बॉंसडीह, बैरिया, चितबड़ागॉंव, मनियर में भी लम्बित आपत्तियों के सापेक्ष निस्तारण की स्थिति सन्तोषजनक नहीं पाई गयी। श्री मिश्र ने आगाह किया कि आगामी बैठक से पूर्व आडिट आपत्तियों के निस्तारण में अपेक्षित प्रगति लाना सुनिश्चित किया जाय, अन्यथा सम्बन्धित के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी।

अपर आयुक्त अनिल कुमार मिश्र ने इसी क्रम में डिग्री कालेजों में लम्बित आडिट आपत्तियों के निस्तारण की समीक्षा के दौरान प्राचार्यों से कहा कि जिन विद्यालयों की भूमि अधिग्रहीत हो गयी है उसके सम्बन्ध में तहसील स्तर से अभिलेख प्राप्त कर उसे कम करायें। बेसिक शिक्षा के स्तर पर लम्बित आडिट आपत्तियों की समीक्षा में पया गया कि बलिया में 1299, आज़मगढ़ 2045 एवं मऊ में 4630 आपत्तियॉं लम्बित हैं। इस सम्बन्ध में तीनों जनपद के बीएसए द्वारा अवगत कराया गया कि पर्याप्त संख्या में अनुपालन आख्या तैयार करा ली गयी है, शीघ्र ही प्रस्तुत कर उसका निस्तारण करा लिया जायेगा। उन्होंने माध्यमिक शिक्षा विभाग की आडिट आपत्तियों की समीक्षा के दौरान तीनों जनपद के डीआईओएस को निर्देश दिया कि जिन विद्यालयों को द्वारा निस्तारण की दिशा में अपेक्षित कार्यवाही नहीं की जाती है तो उस विद्यालय के विरुद्ध कार्यवाही करें।

 इस अवसर पर उप निदेशक, स्थानीय निधि लेखा परीक्षा एसपी चौरसिया, मुख्य राजस्व अधिकारी बलिया विवेक श्रीवास्तव, जिला लेखा परीक्षा अधिकारी आज़मगढ़ एवं मऊ क्रमशः आशुतोष कुमार राय एवं अमित कुमार, प्राचार्य डीएवीपीजी कालेज डा.शुचित श्रीवास्तव, प्राचार्य सर्वोदय पीजी कालेज घोसी, प्राचार्य डीसीएसके मऊ डा.एके मिश्र, समस्त निकायों के ईओ सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।