डिफाल्टर सन्दर्भों का निस्तारण न करने पर दण्डित होंगे अधिकारी :डीएम

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

बहराइच । आईजीआरएस सन्दर्भों की समीक्षा हेतु बुधवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्राप्त प्रार्थना पत्रों का निस्तारण समयबद्धता के साथ गुणवत्तापरक ढंग से किया जाय।

समीक्षा के दौरान पाया गया कि समाज कल्याण विभाग के सर्वाधिक 14, जल निगम के 13, लो.नि.वि. (प्रा.ख.)े 11, एम.ओ.आई.सी. तेजवापुर के 10, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के 09, जिला पंचायत राज विभाग के 07, खाद्य एवं रसद विभाग, बेसिक शिक्षा व सहा.वि.अधि.(पं.) पयागपुर के 06-06, बी.डी.ओ. रिसिया व नवाबगंज, सिंचाई जल संसाधन तथा प्राचार्य मेडिकल कालेज के स्तर पर 05-05 कुल 102 सन्दर्भ डिफाल्टर श्रेणी के पाये जाने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराज़गी जताते हुए सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि तत्काल शिकायतों का निस्तारण कर आख्या उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने सभी अधिकारियों को सचेत किया कि निस्तारण न होने की दशा में प्रतिकूल प्रविष्टि प्रदान करने की कार्रवाई की जायेगी। जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि आई.जी.आर.एस. सन्दर्भों के निस्तारण की प्रतिदिन समीक्षा भी करें।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी मनोज, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, जिला विकास राजेश कुमार मिश्र, वरिष्ठ कोषाधिकारी अशोक कुमार प्रजापति सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।