बुखार से पीड़ित मरीज़ों के प्रसार की रोकथाम के लिए 07 से 16 सितम्बर तक संचालित होगा विशेष अभियान

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

फॉगिंग व एन्टी लार्वा स्प्रे से मच्छरों के प्रसार पर लगेगा अंकुश

बहराइच । प्रदेश में बुखार के बढ़ते मरीज़ों के दृष्टिगत जनपद में बुखार से पीड़ित मरीज़ों के प्रसार की रोकथाम हेतु प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। इस सम्बन्ध में जनपद में 07 से 16 सितम्बर 2021 तक विशेष अभियान संचालित किया जायेगा। विशेष अभियान के दौरान संचालित होने वाली गतिविधियों की जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से कलेक्ट्रेट सभागार में प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना ने मीडिया प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए बताया कि विशेष अभियान को सफल बनाये जाने के उद्देश्य से अर्न्तविभागीय बैठक कर सम्बन्धित विभागों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि जनपद में दवाओं की भी पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है।

प्रभारी जिलाधिकारी ने आमजन से अपील की है कि बुखार एवं उनके साथ किसी भी प्रकार के लक्षण ज्ञात होने पर घबरायें नहीं तत्काल नज़दीकी स्वास्थ्य केन्द्र में जॉच कराकर बीमारी का समुचित उपचार करायें जिससे बीमारी के प्रसार को नियंत्रित किया जा सके। उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान बुखार पीड़ित मरीज़ों के साथ-साथ कोविड लक्षणयुक्त मरीज़ों, टी.बी. लक्षणयुक्त मरीज़ों, 45 वर्ष से ऊपर कोविड-19 टीकाकरण से छूटे व्यक्तियों की लाइन लिस्ट तैयार कर प्रभावी कदम उठाये जायेंगे।

 प्रभारी जिलाधिकारी ने बताया कि बुखार के बढ़ते प्रसार के दृष्टिगत नियंत्रण हेतु जिले में प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। जिला व ब्लाक स्तर पर स्थापित चिकित्सालयों में बुखार पीड़ित मरीज़ों की जॉच हेतु पर्याप्त प्रबन्ध किये गये हैं। जिससे समय रहते ज्ञात हो सके कि बुखार किस श्रेणी का है। डेंगू, जे.ई./ए.ई.एस., मलेरिया आदि रोगियों हेतु अलग से वार्ड आरक्षित किये गये हैं।

उन्होंने बताया कि विशेष अभियान हेतु पल्स पोलियो अभियान को आधार मानते हुए प्रत्येक ग्राम/वार्ड में 01-01 टीम का गठन किया जायेगा जिसमें सदस्य के रूप में आशा व ऑगनबाड़ी द्वारा घर-घर भ्रमण कर बुखार पीड़ित व्यक्तियों की लाइन लिस्ट तैयार कर तत्काल उसी दिन उनकी जॉच कराकर समुचित इलाज की व्यवस्था की जायेगी। टीम द्वारा अभियान के दौरान लगभग 646932 घरों को सर्वे किया जायेगा। टीम के कार्यों के प्रभावी अनुश्रवण हेतु प्रत्येक 05 टीम पर 01 सुपरवाइज़र की भी व्यवस्था की गयी है। प्रत्येक टीम एक दिन में 50 घरों का सर्वे करेगी। सर्वे के पश्चात उसी दिन सॉयकाल 05ः00 बजे तक रिपोर्ट जनपद को प्रेषित करेगी। सर्वे कार्य के लिए 1174 टीमें गठित की गयी हैं। जबकि उनके प्रभावी पर्यवेक्षण के लिए 235 सुपरवाइज़र बनाये गये हैं।

प्रभारी जिलाधिकारी ने बताया कि मच्छरों के प्रसार पर प्रभावी नियंत्रण हेतु गॉवों में नियमित रूप से एन्टी लार्वा स्प्रे तथा फॉगिंग कराया जायेगा एवं पूर्ण स्वच्छता हेतु जल जमाव का निस्तारण, गलियों नालियों तथा झाड़ियों आदि की साफ-सफाई के लिए वृहद स्तर पर अभियान चलाया जायेगा जिससे मच्छरों के प्रसार को रोका जा सके। एन्टी लार्वा स्प्रे एवं फॉिंगंग हेतु पर्याप्त मात्रा में मैलाथियान एवं डी-लार्वा केमिकल जिला एवं ब्लाक स्तर पर उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि यदि किसी भी चिकित्सालय या मेडिकल स्टोर द्वारा अनुचित रूप से दवाओं का भण्डारण किया गया तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने मीडिया प्रतिनिधियों से अपील की कि विशेष अभियान को सफल बनाने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान करें।

इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, नगर मजिस्ट्रेट अनिल कुमार सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. जयन्त कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, ई.ओ. न.पा.परि. बहराइच दुर्गेश्वर मिश्र, रिसिया के शैलेन्द्र कुमार मिश्रा, डी.डी.एच.ई.आई.ओ. बृजेश कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी व मीडिया प्रतिनिधि मौजूद रहे।