बार-बार सेहत के बिगड़ने का कारण घर का वास्तु दोष तो नहीं

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

अच्छा स्वस्थ जिंदगी का सबसे अनमोल गहना माना जाता है। सेहत अच्छी होने से हम जिंदगी की कोई भी लड़ाई व मुश्किल का सामना कर सकते हैं। वहीं सेहत खराब होने से हर मोड़ पर परेशानियां झेलनी पड़ती है। वास्तु के अनुसार, बार-बार सेहत के बिगड़ने का कारण घर में वास्तुदोष हो सकता है। ऐसे में आप कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर इससे बच सकते हैं। चलिए जानते हैं इसके बारे में...

घर में कोई पुरानी चीज ना रखें

घर में कोई बेकार व पुरानी चीज रखने से बचें। वास्तु अनुसार इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है। इसके अलावा घर पर पड़ी पुरानी व गंदी चीज से बैक्टीरिया और वायरस से होने वाली बीमारियां जन्म लेती है। ऐसे में सेहत खराब होने का खतरा बढ़ता है। इसके लिए जरूरी है कि आप घर से बेकार सामान फेंक दें। साथ ही घर की सफाई का ध्यान रखें।

घर के सामने गड्ढा या गंदगी न हो

वास्तु अनुसार, मुख्य द्वार के ठीक सामने कोई गड्ढा या गंदगी नहीं होनी चाहिए। इससे घर नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।‌‌ इसके कारण घर के सदस्यों को मानसिक रोग और तनाव हो सकता है। ऐसे में अगर आपके घर के ठीक सामने कोई गड्ढा है तो उसे मिट्टी से भर दें।‌‌‌ इसके साथ घर के मेन गेट वे इसकी आसपास की सफाई का खास ध्यान रखें।

बेडरूम में बेड के ठीक सामने आईना न लगाएं

वास्तु अनुसार, बेड के ठीक सामने आईना रखने से बचना चाहिए। इससे व्यक्ति की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसके ही बेडरूम में भगवान की तस्वीर लगाने से बचें।

बीम के नीचे सोने से बचें

वास्तु अनुसार, बीम के नीचे सोने से मानसिक परेशानियां हो सकती है।‌‌

भोजन दौरान इस दिशा में बैठे

हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में मुंह करके खाना चाहिए। इससे पाचन दुरुस्त रहता है। ऐसे में बीमारियों से बचाव रहता है।

घर के सामने कोई पेड़ या खंभा ना हो

घर के ठीक सामने कोई बड़ा पेड़ या खंभा होना अशुभ माना जाता है। वास्तु अनुसार, इस पेड़ की छाया घर पर पड़ने से वास्तुदोष पैदा होता है। ऐसे में इसे तुरंत हटा दें। इसके अलावा घर के मुख्य द्वार की दोनों ओर स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं। इससे वास्तुदोष का प्रभाव कम व दूर होने में मदद मिलेगी।