सबका अपना महत्व है

                                                 

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क


किसी क्षेत्र में कामयाब

होने के लिए इंसान को

जितनी बड़ी भूमिका किसी का

प्रोत्साहन निभाता है,

उतनी ही बड़ी भूमिका

उसकी योग्यता व सामर्थ्य को लेकर

किया गया किसी का 

कटाक्ष निभाता है।


यह और बात है कि इंसान

प्रोत्साहित करने वालों के ही

ज्यादातर गुण गाता है

जबकि बहुत बार

कटाक्ष करने वाला ही

लक्ष्य प्राप्ति के लिए

उसकी जिद्द को पक्का करवाता है।


हमारा सहायक 

जाने अनजाने में

हमें उसके ऊपर निर्भर करवाता है

जबकि हमारा आलोचक 

हमें आत्मनिर्भर बनाने में

एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


                           जितेन्द्र 'कबीर'