भोलेनाथ होंगे मेहरबान, सावन में शिवलिंग पर चढ़ाएं ये पत्ते

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

सावन के पवित्र महीने में लोग खासतौर पर शिव भक्ति में डूबे होते हैं। मान्यता है कि इस मास में भगवान शिव माता पार्वती के साथ धरती पर वास करते हैं। इस दौरान भोलेनाथ और मां पार्वती की सच्चे मन से पूजा व व्रत करने से जल्दी ही शुभफल की प्राप्ति होती है। ऐसे में लोग शिव जी प्रसन्न करने के लिए उन्हें बिल्वपत्र, भांग, धतूरा आदि उनकी प्रिय चीजें चढ़ाते हैं। मगर क्या आप जानते हैं कि शिव जी को बिल्वपत्र के अलावा भी कई पत्ते अर्पित किए जा सकते हैं? धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, कई अन्य पत्ते भी है जिन्हें शिवलिंग पर चढ़ाने से मनचाहा फल मिलता है।

चलिए जानते हैं इन पत्तों के बारे में...

शमी का पत्ता

वैसे तो शमी का पत्ता न्याय के देवता शनिदेव को अर्पित किया जाता है। मगर इसे शिवलिंग पर चढ़ाने से भी शुभ होता है। ऐसा करने से शनिदेव के साथ भगवान शिव का आशीर्वाद मिलता है। मान्यता है कि इससे मनचाहा फल मिलता है।

भांग का पत्ता

भगवान शिव को भांग अतिप्रिय है। ऐसे में भक्त उनकी कृपा पाने के लिए भांग का पत्ता चढ़ाते हैं। मान्यता है कि इसे चढ़ाने से जीवन के सभी दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। यह एक औषधी भी माना जाता है। कहा जाता है कि समुद्र मंथन दौरान भगवान शिव ने विषपान किया था। उस समय विष से उपचार करने के लिए देवताओं ने शिव जी को भंग का पत्ता अर्पित किया था। इससे उन्हें शांति मिली थी।

दूर्वा

मान्यता है कि प्रथम पूजनीय गणेश और भोलेनाथ को दूर्वा अर्पित करने से अकाल मृत्यु का भय दूर होता है।

आम का पत्ता

किसी भी धार्मिक कार्य में आम का पत्ता खासतौर पर इस्तेमाल किया जाता है। मान्यता है कि आम के पत्ते को शिवलिंग पर अर्पित करने से दुर्भाग्य सौभाग्य में बदल जाता है। जीवन की समस्याएं दूर होकर घर में सुख- समृद्धि, खुशहाली का वास होता है।

धतूरे का पत्ता

शिव पुराण में धतूरे के पत्ते व फूल के बारे में बताया गया है। मान्यता है कि इसे शिवलिंग पर चढ़ाने से नकारात्मकता दूर होती है।

पीपल के पत्ते

हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को बेहद ही पूजनीय माना जाता है। इसमें देवी-देवताओं का वास माना जाता है। मान्यता है कि पीपल के पत्ते को शिवलिंग पर चढ़ाने से कुंडली में ग्रह दोषों से मुक्ति मिलती है। जीवन संबंधी समस्याएं दूर होकर घर में सुख-समृद्धि आती है।