जासूसी कराने जाने के विरोध में हरियाणा कांग्रेस ने किया रोष प्रदर्शन, हुड्डा के समर्थक विधायक शामिल

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

 हरियाणा : इजरायली स्पाइवेयर पेगासस के माध्यम से कथित जासूसी कराने जाने के विरोध में गुरुवार को हरियाणा कांग्रेस ने रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व हरियाणा के प्रभारी विवेक बंसल और प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने किया। हालांकि प्रदर्शन में पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, किरण चौधरी, मोहम्मद इलियास, मामन खान, कुलदीप वत्स, चिरंजीराव और राजेंद्र जून शामिल नहीं हुए। खास बात ये रही कि पहली बार हुड्डा के समर्थक विधायक प्रदर्शन में शामिल रहे। बता दें कि महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन में विधायकों के शामिल नहीं होने पर प्रभारी बंसल ने लिस्ट मांग ली थी।

इससे पहले, कांग्रेस मुख्यालय से नारेबाजी करते हुए कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता राजभवन की ओर बढ़े। पुलिस ने उनको पहले ही हिरासत में ले लिया। इस दौरान जमकर धक्का-मुक्की हुई। सभी नेताओं को पुलिस सेक्टर-3 थाने ले आई। यहां पर भी कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बाद में राष्ट्रपति के नाम हरियाणा के राज्यपाल के माध्यम से एक ज्ञापन भी सौंपा, जिसमें निष्पक्ष जांच व गृह मंत्री अमित शाह को बर्खास्त करने की मांग की गई है।

विवेक बंसल ने कहा कि सरकार द्वारा जासूसी करवा कर राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया गया है। कांग्रेस पार्टी तो सिर्फ इस मामले की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में अथवा जेपीसी द्वारा निष्पक्ष जांच कराने की मांग कर रही है। कुमारी सैलजा ने कहा कि पेगासस का इस्तेमाल 2019 के लोकसभा चुनाव में सेल फोनों को हैक करने और चुनी हुई सरकारों को गिराने के लिए किया गया था।

इस अवसर पर विधायक कुलदीप बिश्नोई, आफताब अहमद, डॉ. रघुबीर सिंह कादियान, गीता भुक्कल, राव दान सिंह, जगबीर सिंह मलिक, जयवीर सिंह, प्रदीप चौधरी, शमशेर सिंह गोगी, धर्मसिंह छौक्कर, शकुंतला खट्टक, बीबी बत्तरा, शैली चौधरी, रेणु बाला, बीएल सैनी, अमित सिहाग, सुरेंद्र पंवार, वरुण चौधरी, शीशपाल केहरवाला, मेवा सिंह, नीरज शर्मा, बलबीर वाल्मीकि, सुभाष देसवाल व इंदुराज नरवाल मौजूद रहे। वहीं पूर्व डिप्टी सीएम चंद्रमोहन समेत अन्य नेताओं ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया।