क्या मिश्रा और मिर्जा कभी दोस्त नहीं हो सकते?

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

जरूरत से ज्यादा हर चीज हानिकारक होती है, फिर चाहे शक्कर हो या मसाला या फिर कुछ और! एण्डटीवी के शो ‘और भई क्या चल रहा है?’ में पड़ोसी से फ्रेनेमीज़ में बनें जफर अली मिर्जा (पवन सिंह) और रमेश प्रसाद मिश्रा (अंबरीश बाॅबी) के बीच नई-नई दोस्ती हुई है। लेकिन इस दोस्ती से उनकी पत्नियाँ सकीना मिर्जा (आकांशा शर्मा) और शांति मिश्रा (फरहाना फातिमा) पूरी तरह से पागल हो गई हैं! क्या उनकी यह दोस्ती लंबे समय तक चलेगी? या माचिस की तीली की तरह जल्द ही बुझ जाएगी। आगामी ट्रैक में हवेली की छत टूटेगी और सीधे मिश्रा और मिर्जा पर उसका कंक्रीट गिरेगा। सकीना और शांति अपने पतियों को एक-दूसरे के करीब लाने के लिये एक नाटक की योजना बनाएंगी। और फिर जल्दी ही मिर्जा और मिश्रा बेस्ट फ्रैंड बन जाएंगे! ऐसा लगेगा कि वे पूरी दुनिया के खिलाफ हैं। लेकिन इससे बिट्टू कपूर (अनु अवस्थी) और पप्पू पांडे (संदीप यादव) की शरारती जोड़ी को परेशानी होगी और वे इन नये दोस्तों को यह दोस्ती तोड़ने के लिये उकसाने की कोशिश करेंगे।

इस ट्रैक और पर्दे के पीछे की अपनी दोस्ती के बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए, ज़फर अली मिर्जा की भूमिका निभा रहे पवन सिंह ने कहा, ‘‘यह दिलचस्प बात है कि असल जिन्दगी में अंबरीश और मेरी दोस्ती ‘ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे’ वाली है। पर्दे पर तो हम एक-दूसरे को हवेली से निकालना चाहते हैं, लेकिन असल जिन्दगी में हम जय और वीरू से कम नहीं। अंबरीश मेरे लिये बड़े भाई जैसे हैं। हमारी कई बातें काॅमन हैं और वह मुझे लखनऊ में करने लायक कामों और घूमने लायक जगहों की जानकारी देते रहते हैं। वे नवाबों के इस शहर में मेरे पक्के साथी हैं। मुझे लगता है कि मेरे पागलपन को केवल अंबरीश ही सह सकते हैं। हमारा मौजूदा ट्रैक भी दोस्ती के बारे में है। इसलिये उसे मजेदार होना ही था। हमारा रिश्ता दिखने में भी मजबूत है और कभी फीका पड़ने वाला नहीं है। हालांकि, असल जिन्दगी में हमारी दोस्ती की तरह क्या मिश्रा और मिर्जा का रिश्ता भी मजबूत रहेगा या आसानी से टूट जाएगा? यह दर्शक देखेंगे!’’ अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए, रमेश प्रसाद मिश्रा की भूमिका निभा रहे अंबरीश बाॅबी ने कहा, ‘‘पर्दे पर और पर्दे के पीछे हमारा रिश्ता बहुत सहज, मजेदार और सरल है! पहली बार पवन से मिलने पर ही मुझे उससे लगाव हो गया था। वह बहुत स्नेही और स्वागत करने वाला है, और उसके साथ मैं किसी भी चीज पर बात कर सकता हूँ। इसी कारण उसके साथ इस खास ट्रैक की शूटिंग बड़ी सहजता से हो गई थी और वह पर्दे पर भी बड़ी खूबसूरती से उतरी है। दर्शक हंसते हुए लोट-पोट होने वाले हैं, क्योंकि एक-दूसरे के सबसे बड़े दुश्मन पड़ोसी मिश्रा और मिर्जा अब दोस्त बनने जा रहे हैं। इसकी शूटिंग करने में हमें सचमुच बहुत मजा आया! पर्दे के पीछे भी जब हम एक-दूसरे के साथ गुस्से वाला बर्ताव करते हैं, तो हमें हंसी आ जाती है। बस ऐसी ही मजेदार है दोस्ती हमारी!’’

तो देखना न भूलिये, मिश्रा और मिर्जा की खट्टी-मीठी दोस्ती ‘और भई क्या चल रहा हैघ् में, इस हफ्ते सोमवार से शुक्रवार, रात 9ः30 बजे, एण्डटीवी पर!