बढ़ते मोटापे से हैं परेशान तो ये योगासन कर सकते हैं आपकी मदद

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

आज की दौड़ती-भागती जिंदगी में व्यक्ति का स्वस्थ रहना एक बड़ा चैलेंज है, क्योंकि इसके पीछे हमारा बाहरी खानपान काफी जिम्मेदार है। दरअसल, जब हम बाहर का तला-भुना और जंक फूड जैसी चीजें खाते हैं तो इससे हमें पेट से जुड़ी कई तरह की दिक्कतें होने के अलावा ये हमारा वजन भी बढ़ा देते हैं। वहीं, बढ़ते वजन के कारण हमारे शरीर में फैट की मात्रा बढ़ती चली जाती है और ये बात तो सभी जानते हैं कि मोटापा कई बीमारियों को जन्म देने में अहम रोल निभा सकता है। इसलिए जरूरी होता है कि हम अपने बढ़ते वजन को कम करने के बारे में सोचें। हालांकि, कई लोग इस तरफ ध्यान देते हैं और कई तरह की चीजों का सेवन करके खुद का वजन घटाने की तरफ कदम बढ़ाते हैं, लेकिन कई बार ये चीजें उनकी मदद नहीं कर पाती हैं। ऐसे में आप योग का सहारा ले सकते हैं, क्योंकि योग में कई ऐसे आसान हैं जो आपके वजन को घटाने में आपकी मदद कर सकते हैं। बशर्ते कि आपको ये योगासन नियमित रूप से रोजाना करने होते हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में।

सर्वांगसन कर सकते हैं

सर्वांगसन हमारे शरीर और खासतौर पर पेट के लिए काफी लाभकारी होता है। इस आसन से हमारे पेट पर जोर पड़ता है, और रीढ़ की हड्डी से लेकर पेट तक में खिंचाव पड़ता है। इससे ये आपके पेट की चर्बी को कम करने में मदद करता है, साथ ही मोटापा भी दूर करने में ये लाभकारी होता है।

नौकासन कर सकते हैं

नौकासन करने से कई लाभ मिलते हैं। जैसे- ये हमारे पेट, पैर की मांसपेशियों और पीठ को मजबूत करने में मदद करता है। जब हम नौकासन करते हैं तो ये हमारी मांसपेशियों को स्ट्रैच करता है और इससे हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ रहने में भी मदद मिलती है। बस इसे आपको रोजाना नियमित रूप से करना होता है।

धनुरासन कर सकते हैं

धनुरासन पीठ से जुड़ी कई तरह की दिक्कतों को दूर करने के अलावा हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है। यही नहीं, ये पेट की मांसपेशियों को भी मजबूत बनाने में मदद करता है। इसलिए इस आसन को पेट के लिए काफी लाभकारी माना जाता है।

त्रिकोणासन कर सकते हैं

त्रिकोणासन को करने से ये हमारे पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है, पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। वहीं, ये आसन फैट बर्न करता है, जिसकी मदद से मोटापे को कम किया जा सकता है। यही नहीं, पैरों, घुटनों और टखनों को मजबूत बनाने में भी ये आसन मदद करता है।