महाराष्ट्र में बारिश से भयंकर तबाही, रायगढ़ में भूस्खलन से 36 लोगों की मौत

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

मुंबई : महाराष्ट्र में भयंकर बारिश और भूस्खलन की वजह से भयंकर तबाही की खबर आ रही है। रायगढ़ जिले के एक गांव के समीप पर भूस्खलन के बाद 36 लोगों की मौत हो गई है। रायगढ़ के जिला अधिकारी निधि चैधरी ने बताया कि जिले में भूस्खलन से कुल 36 लोगों की मौत हुई। इनमें से तलाई में 32 और सखार सुतार वाड़ी में 4 लोगों की मौत हुई। 30 लोग फंसे हुए हैं। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में भारी बारिश और नदियों में उफान आने से बृहस्पतिवार को कोंकण रेलवे मार्ग पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित हो गई और करीब छह हजार यात्री फंस गए। मौके पर एनडीआरएफ की टीम पहुंच गई है। जिले में भूस्खलन से कुल 36 लोगों की मौत हुई। इनमें से तलाई में 32 और सखार सुतार वाड़ी में 4 लोगों की मौत हुई। 30 लोग फंसे हुए हैं। भारी बारिश की वजह से मुंबई सहित राज्य के कई अन्य हिस्सों में रेल और सड़क यातायात प्रभावित हुआ है। इसकी वजह से अधिकारियों को बचाव कार्य में प्रशासन की मदद के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) बुलाना पड़ा है। इस बीच, राज्य के कोल्हापुर जिले में भारी बारिश के चलते सड़कों के जलमग्न हो जाने पर करीब 47 गांवों का संपर्क टूट गया है और 965 परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना पड़ा। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लगातार हो रही बारिश से इन दो तटीय जिलों में उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की है। वहीं भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने तटीय क्षेत्रों के लिए अगले तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सतर्क रहने और नदियों के जलस्तर पर नजर रखने एवं लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का निर्देश दिया है। कोंकण रेलवे अधिकारियों ने बताया कि मार्ग पर व्यवधान के कारण नौ ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया, उन्हें गंतव्य से पहले रोका गया है या रद्द कर दिया गया है। कोंकण रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि ये ट्रेनें अलग-अलग स्टेशनों पर सुरक्षित स्थानों पर हैं और उनके अंदर मौजूद यात्री भी सुरक्षित हैं।